भुगतान और निपटान प्रणाली

अर्थव्‍यवस्‍था की समग्र दक्षता में सुधार करने में भुगतान और निपटान प्रणाली महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इसके अंतर्गत राशि-मुद्रा, चेकों जैसी कागज़ी लिखतों के सुव्‍यवस्थित अंतरण और विभिन्‍न इलेक्‍ट्रॉनिक माध्‍यमों के लिए विभिन्‍न प्रकार की व्‍यवस्‍थाएं हैं।

अधिसूचनाएं


31 मार्च 2022 को विशेष समाशोधन कार्य

आरबीआई/2021-2022/188
CO.DPSS.RPPD.No./S1769/03-01-002/2021-22

28 मार्च 2022

अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक/मुख्य कार्यपालक अधिकारी
क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों सहित सभी अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक /
शहरी सहकारी बैंक/ राज्य सहकारी बैंक /
जिला केंद्रीय सहकारी बैंक / स्थानीय क्षेत्र के बैंक / भुगतान बैंक /
लघु वित्त बैंक / भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम

महोदया/ प्रिय महोदय

31 मार्च 2022 को विशेष समाशोधन कार्य

सरकारी और बैंक लेखा विभाग (डीजीबीए) द्वारा दि. 24 मार्च 2022 के सीओ.डीजीबीए.जीबीडी.सं.एस1595/42-01-029/2021-2022 द्वारा जारी परिपत्र का संदर्भ लें, जो सरकारी खातों का वार्षिक समापन - केंद्र/राज्य सरकारों के लेनदेन - चालू वित्तीय वर्ष (2021-22) के लिए विशेष उपायों पर सभी एजेंसी बैंकों को संबोधित है।

2. किसी भी कार्यदिवस "गुरुवार" के लिए लागू सामान्य समाशोधन समय का पालन 31 मार्च 2022 को किया जाएगा। इसके अलावा, 31 मार्च 2022 तक चालू वित्तीय वर्ष (2021-22) के लिए सभी सरकारी लेनदेन के लेखांकन की सुविधा के लिए, यह निर्णय लिया गया है कि नीचे दिए गए विवरण के अनुसार 31 मार्च 2022 से सरकारी चेकों के लिए विशेष रूप से तीन सीटीएस ग्रिडों में विशेष समाशोधन किया जाएगा:

स्थान प्रस्तुति समाशोधन वापसी समाशोधन
सीटीएस ग्रिड (नई दिल्ली, चेन्नई और मुंबई) 17:00 और 17:30 बजे के बीच 19:00 और 19:30 बजे के बीच

3. सभी बैंकों के लिए 31 मार्च 2022 को विशेष समाशोधन कार्यों में भाग लेना अनिवार्य है। संबंधित सीटीएस ग्रिड के तहत सभी सदस्य बैंकों को विशेष समाशोधन घंटों के दौरान अपने आवक समाशोधन प्रसंस्करण बुनियादी ढांचे को खुला रखने और विशेष समाशोधन से उत्पन्न निपटान दायित्वों को पूरा करने के लिए अपने समाशोधन निपटान खाते में पर्याप्त शेष राशि बनाए रखने की आवश्यकता होती है।

4. संबंधित सीटीएस ग्रिड के अंतर्गत सदस्य बैंकों को सूचित किया जाता है कि वे इस परिपत्र में निहित निर्देशों के साथ-साथ संबंधित सीटीएस ग्रिड के अध्यक्ष द्वारा ज़ारी निर्देशों का पालन करें। सदस्य बैंकों को विशेष समाशोधन सत्रों में प्रस्तुत किए जाने वाले इनस्ट्रुमेंट्स के समाशोधन प्रकार के संबंध में सभी सदस्य बैंकों को एनपीसीआई द्वारा ज़ारी 03 अक्तूबर 2016 के परिपत्र एनपीसीआई/2016-17/सीटीएस/परिपत्र संख्या 32 द्वारा भी मार्गदर्शित होना चाहिए।

भवदीय,

पी वासुदेवन
मुख्य महाप्रबंधक

2022
2021
2020
2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख

© भारतीय रिज़र्व बैंक । सर्वाधिकार सुरक्षित

दावा अस्‍वीकरणकहाँ क्‍या है |