बैंकिंग प्रणाली का विनियामक

बैंक राष्‍ट्रीय वित्‍तीय प्रणाली की नींव होते हैं। बैंकिंग प्रणाली की सुरक्षा एवं सुदृढता को सुनिश्चित करने और वित्‍तीय स्थिरता को बनाए रखने तथा इस प्रणाली के प्रति जनता में विश्‍वास जगाने में केंद्रीय बैंक महत्‍वपूर्ण भूमिका अदा करता है।

अधिसूचनाएं


अगस्त 05, 2022
बैंक दर में परिवर्तन
जुलाई 29, 2022
कोरिया लोकतांत्रिक जनवादी गणराज्य पर प्रतिबंध समिति (डीपीआरके) पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद संकल्प (यूएनएससीआर) 1718 प्रतिबंध समिति द्वारा अपनी प्रतिबंध सूची में 44 मौजूदा प्रविष्टियों में संशोधन
जुलाई 13, 2022
डीपीआरके पर यूएनएससीआर 1718 प्रतिबंध समिति द्वारा अपनी प्रतिबंध सूची में एक प्रविष्टि में संशोधन
जुलाई 06, 2022
भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम, 1934 की दूसरी अनुसूची में “यूनिटी स्मॉल फाईनैन्स बैंक लिमिटेड” को शामिल करना
भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम, 1934 की धारा 42 और बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 की धारा 18 और 24 – एफ़सीएनआर (बी)/एनआरई मीयादी जमा – सीआरआर/एसएलआर के रखरखाव से छूट
जमाराशियों पर ब्याज दर पर मास्टर निदेश - विदेशी मुद्रा (अनिवासी) खाते (बैंक) योजना [एफसीएनआर (ख)] और अनिवासी (बाहरी) रुपया (एनआरई) जमा
जून 28, 2022
प्रतिभूति प्राप्तियों (एसआर) में निवेश के लिए प्रावधान की आवश्यकता
जून 23, 2022
विधिविरुद्ध क्रिया-कलाप (निवारण) अधिनियम, 1967 की धारा 35 (1) (क) के तहत 7 व्यक्तियों को 'आतंकवादी' के रूप में पदनामित करना और अधिनियम की अनुसूची IV में अधिसूचित करना- के संबंध में
जून 21, 2022
मास्टर निदेश - क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड - जारी करने और आचार निदेश, 2022 के कुछ प्रावधानों के कार्यान्वयन के लिए समय सीमा का विस्तार
2022
2021
2020
2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख

© भारतीय रिज़र्व बैंक । सर्वाधिकार सुरक्षित

दावा अस्‍वीकरणकहाँ क्‍या है |