बैंकिंग प्रणाली का विनियामक

बैंक राष्‍ट्रीय वित्‍तीय प्रणाली की नींव होते हैं। बैंकिंग प्रणाली की सुरक्षा एवं सुदृढता को सुनिश्चित करने और वित्‍तीय स्थिरता को बनाए रखने तथा इस प्रणाली के प्रति जनता में विश्‍वास जगाने में केंद्रीय बैंक महत्‍वपूर्ण भूमिका अदा करता है।

सूचना का अधिकार अधिनियम – प्रकटीकरण लॉग

विनियमन विभाग से संबंधित सूचना (वाणिज्यिक बैंकों और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के लिए)

क्र. प्रश्न उत्तर दिनांक
1 बैंक खाता खोलने के लिए कौन से केवाईसी दस्तावेज जरूरी हैं? कृपया 25 फरवरी 2016 को अपने ग्राहक को जानिए विषय पर जारी, 09 अगस्त 2019 तक संशोधित मास्टर निदेश देखें। जो हमारे पब्लिक डोमेन www.rbi.org.in में "अधिसूचना" लिंक के तहत उपलब्ध हैं । 05 नवंबर 2019
2 क्या बैंक खाता खोलने के लिए आधार अनिवार्य है?
3 मेरी पहचान दस्तावेज पर पता वर्तमान पता नहीं है। बैंक खातों के लिए वर्तमान पते के संबंध में क्या अनुदेश हैं?
4 मैंने कुछ साल पहले बैंक खाता खोलते समय केवाईसी पूरा किया था। बैंक अभी पुन: केवाईसी करने के लिए क्यों जोर दे रहे हैं?
5 ग्राहकों के बैंक खातों और उनके लेनदेन की गोपनीयता बनाए रखने के लिए बैंक के कर्तव्य और जिम्मेदारियां क्या हैं?
6 यदि किसी व्यक्ति का बैंक में खाता नहीं है, तो क्या 50,000 रुपये और उससे अधिक की राशि के लेनदेन के लिए केवाईसी की आवश्यकता है?
7 कौन से बैंक/ वित्तीय संस्थान भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा निर्धारित केवाईसी दिशानिर्देशों के दायरे में आते हैं?
8 मैं एक बैंक में संयुक्त खाता खोलना चाहता हूं। क्या पहले खाताधारक के लिए केवाईसी करना जरूरी है या सभी खाताधारकों के लिए?
9 स्वामित्त फर्मों, कंपनियों, भागीदारी फर्मों, ट्रस्टों के मामले में बैंक खाता खोलने के लिए किन केवाईसी दस्तावेजों की आवश्यकता होती है?
10 बैंकों द्वारा जारी चेक/ड्राफ्ट/पे ऑर्डर/बैंकर चेक के भुगतान की समय सीमा क्या है। कृपया 25 फरवरी 2016 को अपने ग्राहक को जानिए विषय पर जारी, 09 अगस्त 2019 तक संशोधित मास्टर निदेश देखें। जो हमारे पब्लिक डोमेन www.rbi.org.in में "अधिसूचना" लिंक के तहत उपलब्ध हैं । 05 नवंबर 2019
11 कृपया सूचित करें कि क्या भारतीय रिजर्व बैंक ने भारत में निजी क्षेत्र के के साथ-साथ सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के अध्यक्षों/ प्रबंध निदेशकों की नियुक्ति की है। बैंकों के अध्यक्षों/ प्रबंध निदेशकों के नाम प्रस्तुत किया जाए। i) वर्तमान सांविधिक उपबंधों और दिशा-निर्देशों के अनुसार, अंशकालिक अध्यक्ष और सरकारी क्षेत्र के बैंकों के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारियों की नियुक्ति केन्द्र सरकार द्वारा रिजर्व बैंक के साथ परामर्श के बाद की जाती है। तत्पश्चात् भारत सरकार इन नियुक्तियों को भारत के सरकारी राजपत्र में अधिसूचित करती है।

(ii) जहां तक निजी क्षेत्र के बैंकों का संबंध है, बैंक अपने अंशकालिक अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक की नियुक्ति रिज़र्व बैंक के पूर्व अनुमोदन से कर रहे हैं। इसके उपरांत बैंक अपनी नियुक्तियों को अधिसूचित करते हैं।

इसके अतिरिक्त इन नियुक्तियों के लिए रिज़र्व बैंक द्वारा कोई अधिसूचना जारी किए जाने की जरूरत नहीं है।
05 नवंबर 2019
12 निम्न सूचना दें

(1) बैंक शाखाओं को खोलना (2) बैंक द्वारा खोली गई शाखा (3) किसी केंद्र की पहचान और वहां शाखा खोलने की प्रक्रिया (4) भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा दी गई अनुमति/ लाइसेंस की प्रति
कृपया 18 मई 2017 को जारी परिपत्र बैंविवि.सं.बीएपीडी. बीसी.69/22.01.001/2016-17 के माध्यम से नए शाखाओं को खोलने के संदर्भ में जारी दिशानिर्देशों को देखें।

लघु वित्त बैंक और भुगतान बैंक के संदर्भ में, 18 मई 2017 का उपरोक्त परिपत्र, 27 नवंबर 2014 को एसएफ़बी के लिए जारी लाइसेंस संबंधित दिशानिर्देश और 06 अक्तूबर 2016 के एसएफ़बी के लिए जारी परिचालन दिशानिर्देश तथा 6 अक्तूबर 2016 को जारी भुगतान बैंकों के लिए परिचालन दिशानिर्देश का संदर्भ लें।

उपर्युक्त परिपत्र, लाइसेंस दिशानिर्देश और परिचालन दिशानिर्देश हमारे पब्लिक डोमेन www.rbi.org.in में "अधिसूचना" लिंक के तहत उपलब्ध हैं ।
05 नवंबर 2019
13 इस पर जानकारी

(1) बैंक शाखाओं/ एटीएम के लिए परिसर को पट्टे पर देना (2) भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा अनुमोदित किराये की दरें/ विनिर्देश (3) भुगतान या भुगतान न किए गए किराया और आगे अन्य विवाद (4) लीज रेंटल एग्रीमेंट की कॉपी (5) बैंक शाखा खोलने के लिए परिसर की पहचान और अधिग्रहण/पट्टे पर देना
दिनांक 30 अप्रैल 2015 का परिपत्र डीबीआर.सं.बीएपीडी. बीसी.92/22.01.003/2014-15 के साथ पठित 01 जुलाई 2014 के मास्टर परिपत्र डीबीओडी.सं.बीएपीडी.बीसी.7/22.01.001/2014-15 देखें।

उक्त उल्लिखित परिपत्र ‘अधिसूचना’ लिंक के अंतर्गत हमारे वेबसाइट www.rbi.org.in पर उपलब्ध है।
05 नवंबर 2019
14 इस पर जानकारी

(1) बैंकों द्वारा व्यवसाय प्रतिनिधि (बीसी)/ बैंक मित्र की नियुक्ति (2) बीसी के लिए नियुक्ति/ पुनर्विचार/ नियुक्ति/ नवीकरण/ कमीशन दरों, पात्रता मानदंड, गतिविधियों आदि की शर्तें।
01 जुलाई 2014 के शाखा प्राधिकरण पर मास्टर परिपत्र डीबीओडी.सं.बीएपीडी.बीसी.7/22.01.001/2014-15 देखें।

उक्त उल्लिखित परिपत्र ‘अधिसूचना’ लिंक के अंतर्गत हमारे वेबसाइट www.rbi.org.in पर उपलब्ध है।
05 नवंबर 2019
15 एटीएम स्थापित करने/ खोलने का क्या प्रावधान है? 18 मई 2017 के हमारे परिपत्र डीबीआर सं. बीएपीडी. बीसी.69/22.01.001/2016-17 (14 जनवरी 2016 के परिपत्र डीबीआर. सं बीएपीडी.बीसी.72/22.01.001/2015-16 के साथ पठित 01 जुलाई 2014 के मास्टर परिपत्र डीबीओडी. सं बीएपीडी. बीसी.7/22.01.001/2014-15 के पैरा सं 4) देखें।

उक्त उल्लिखित परिपत्र ‘अधिसूचना’ लिंक के अंतर्गत हमारे वेबसाइट www.rbi.org.in पर उपलब्ध है।
05 नवंबर 2019
16 एटीएम के सुरक्षा गार्डों से संबन्धित जानकारी कृपया 18 मई 2017 के परिपत्र डीबीआर.सं.बीएपीडी.बीसी. 69/22.01.001/2016-17 देखें।

उक्त उल्लिखित परिपत्र ‘अधिसूचना’ लिंक के अंतर्गत हमारे वेबसाइट www.rbi.org.in पर उपलब्ध है।
05 नवंबर 2019
17 मैंने क्रेडिट इंफॉर्मेशन रिपोर्ट (सीआईआर) मामले के आधार पर क्रेडिट इंफॉर्मेशन कंपनीज (सीआईसी) से ली है: टीयूसीबील/ एक्सपीरियन/ इक्युफेक्स/ सीआरआईएफ। यह देखा गया है कि मेरी क्रेडिट सूचना रिपोर्ट (सीआईआर) में कई त्रुटियाँ हैं। कृपया इसे ठीक करें / मैं इसे कैसे ठीक कर सकता हूं? शिकायत निवारण सूचना का अधिकार अधिनियम के दायरे में नहीं आता है। अत: हम आपको यह सूचित करते हैं कि मामले के अनुसार टीयुसीबील/ एक्सपीरियन/ इक्वूफैक्स/ सीआरआईएफ हाई मार्क से संपर्क करें। पते निम्नलिखित है:

ट्रांसयूनियन सिबिल लिमिटेड,
वन इंडियाबुल्स, टॉवर 2A-2B,
यूनिट नंबर 1901, 19 वीं मंजिल,
जुपिटर मिल कंपाउंड,
सेनापति बापट मार्ग,
लोअर परेल, मुंबई - 400 013
टे: +91 - 22 - 6638 4600

वैकल्पिक रूप से, आप निम्नलिखित लिंक का उपयोग करके अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं: https://www.cibil.com/consumer-dispute-resolution

एक्सपेरियन क्रेडिट इंफॉर्मेशन कंपनी ऑफ इंडिया प्राइवेट लिमिटेड
इक्विनॉक्स बिजनेस पार्क,
5 वीं मंजिल,
पूर्वी विंग,
टॉवर 3,
एलबीएस मार्ग, कुर्ला (पश्चिम),
मुंबई - 400070

ग्राहक ईसीआईसी उपभोक्ता सपोर्ट से संपर्क कर सकते हैं
टे: +91 (0) 22 66419000 (सोम-शुक्र -9.30-6.30)
ई मेल भेजने के लिए: consumer.support@in.experian.com
वेबसाइट - www.experian.in
पत्र भेजने के लिए –
पीबी सं 9096, गोरेगांव (पूर्व), मुंबई – 400063

वैकल्पिक रूप से, आप निम्नलिखित लिंक का उपयोग करके अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं:
http://www.experian.in/addressing-your-queries-disputes
इक्विफैक्स क्रेडिट इंफॉर्मेशन सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड,
यूनिट नंबर 931, तीसरी मंजिल, बिल्डिंग नं 9,
सोलिटेयर कॉर्पोरेट पार्क,
अंधेरी घाटकोपर लिंक रोड,
अंधेरी पूर्व,
मुंबई - 400093, भारत
टी: +91- 22- 6112 7999

वैकल्पिक रूप से, आप निम्नलिखित लिंक का उपयोग करके अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं:
https://www.equifax.co.in/consumer/forms/dispute_resolution/en_in

ऑनलाइन डिसप्यूट के लिए निम्नलिखित लिंक का उपयोग करें
https://eport.equifax.co.in/eport/dispute.jsp

सीआरआईएफ हाई मार्क
एफ़ओएफ़, बी - 04, 05 और 06,
चौथी मंज़िल, आर्ट गिल्ड हाउस,
फीनिक्स मार्केट सिटी,
एलबीएस मार्ग,
कुर्ला (पश्चिम),
मुंबई – 400070 महाराष्ट्र,
टेल - +91-22-71712900
वैकल्पिक रूप से, आप निम्नलिखित लिंक का उपयोग करके अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं: https://www.crifhighmark.com/support-desk/
05 नवंबर 2019
18 किस संविधि के तहत सीबील (क्रेडिट इन्फार्मेशन ब्यूरो लिमिटेड) सहित क्रेडिट इंफॉर्मेशन कंपनी (सीआईसी) की स्थापना की गई है? आरबीआई ने प्रत्यय विषयक जानकारी कंपनी (विनियमन) अधिनियम 2005 (सीआईसीआरए) की धारा 5 द्वारा प्रदत्त शक्तियों के प्रयोग और अधिनियम के तहत बनाए गए नियमों और विनियमों के अधीन चार क्रेडिट इंफॉर्मेशन कंपनियों (सीआईसी) को पंजीकरण प्रमाणपत्र प्रदान किया गया है। प्रत्यय विषयक जानकारी कंपनी (विनियमन) अधिनियम 2005 (सीआईसीआरए) पब्लिक डोमेन में उपलब्ध है। 05 नवम्बर 2019
19 भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा निर्धारित क्रेडिट सूचना कंपनियों (सिआईसी) के कर्तव्य और जिम्मेदारियां क्या हैं? सीआईसी के कर्तव्यों और जिम्मेदारियों का उल्लेख प्रत्यय विषयक जानकारी कंपनी (विनियमन) अधिनियम 2005 (सीआईसीआरए) की धारा 17, 19, 20 और 22, प्रत्यय विषयक जानकारी कंपनी 24, 25, 26, 28 और 29 और रेगुलेशन 7, 10 में किया गया है। 05 नवम्बर 2019
20 क्या भारतीय रिज़र्व बैंक ने बैंकों/ वित्तीय संस्थाओं/ एनबीएफसी को ऋण वितरण के लिए क्रेडिट सूचना रिपोर्ट का उपयोग करने का अनुदेश दिया है? कृपया दिनांक 27 जून 2014 के परिपत्र डीबीओडी.सं. सीआईडी.बीसी.127/20.16.056/2013-14 को देखें, जो वेबसाइट www.rbi.org.in में ‘अधिसूचना’ लिंक के अंतर्गत उपलब्ध है। 05 नवम्बर 2019
21 भारतीय रिज़र्व बैंक ने इरादतन चूककर्ताओं के विरुद्ध क्या कदम उठाए हैं? कृपया दिनांक 01 जुलाई 2015 के इरादतन चूककर्ताओं पर जारी मास्टर परिपत्र को देखें, जो वेबसाइट www.rbi.org.in में ‘अधिसूचना’ लिंक के अंतर्गत उपलब्ध है। 05 नवम्बर 2019
22 जमाकर्ता शिक्षा और जागरूकता निधि योजना, 2014 के बारे में जानकारी। कृपया दिनांक 21 मार्च 2014 के जमाकर्ता शिक्षा और जागरूकता निधि योजना, 2014 (योजना), को देखें, जो वेबसाइट www.rbi.org.in में ‘अधिसूचना’ लिंक के अंतर्गत उपलब्ध है। 05 नवम्बर 2019
23 जमाकर्ता शिक्षा और जागरूकता निधि का प्रशासन और प्रबंधन करने के लिए क्या व्यवस्था है? कृपया दिनांक 21 मार्च 2014 के जमाकर्ता शिक्षा और जागरूकता निधि योजना, 2014 (योजना), को देखें, जो वेबसाइट www.rbi.org.in में ‘अधिसूचना’ लिंक के अंतर्गत उपलब्ध है। 05 नवम्बर 2019
24 निधि का उपयोग कैसे किया जाता है? 05 नवम्बर 2019
25 ऋणों की विभिन्न श्रेणियों के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा निर्धारित ब्याज दरें क्या हैं? कृपया दिनांक 3 मार्च 2016 के मास्टर परिपत्र- भारतीय रिज़र्व बैंक (अग्रिम पर ब्याज दर) पर जारी डीबीआर. डीआईआर.सं.85/13.03.00/2015-16 को देखें, जो वेबसाइट www.rbi.org.in में ‘अधिसूचना’ लिंक के अंतर्गत उपलब्ध है। 05 नवम्बर 2019
26 आरबीआई के दिशानिर्देशों के अनुसार विभिन्न परिपक्वताओं की मीयादी जमाराशियों पर ब्याज दर क्या है? कृपया दिनांक 3 मार्च 2016 के मास्टर परिपत्र- जमा पर ब्याज दर पर जारी डीबीआर.डीआईआर.सं.84/13.03.00/2015-16 को देखें, जो वेबसाइट www.rbi.org.in में ‘अधिसूचना’ लिंक के अंतर्गत उपलब्ध है। 05 नवम्बर 2019
27 क्या बैंक में वरिष्ठ नागरिकों द्वारा जमा किए गए धन पर अधिक ब्याज देने के लिए कोई प्रावधान है?
28 सार्वजनिक या निजी बैंक से ऋण प्राप्त करने के लिए पात्रता मानदंड और आवश्यक दस्तावेज क्या हैं? बैंक से ऋण प्राप्त करने के लिए आरबीआई के दिशानिर्देश क्या हैं? "ऋण और अग्रिम - सांविधिक और अन्य प्रतिबंध" पर दिनांक 1 जुलाई 2015 को जारी मास्टर परिपत्र बैंविवि.निदेश.बीसी.सं10/13.03.00/2015-16 देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचना' शीर्षक के तहत उपलब्ध है।

इसके अलावा, बैंकों को सूचित किया गया है कि वे अग्रिमों को मंजूरी देते समय व्यक्तिगत/ सामूहिक उधारकर्ताओं के लिए जोखिम सीमा, अभिलेख मानक, मार्जिन, सुरक्षा, क्षेत्रीय जोखिम सीमा, शक्तियों के प्रत्यायोजन, परिपक्वता और मूल्य निर्धारण नीतियों, ब्याज दरों को तय करने के लिए ध्यान में रखे गए कारकों आदि पर विचार करें।
05 नवम्बर 2019
29 क्या आरबीआई ने बैंकों द्वारा प्रदान की जाने वाली विभिन्न सेवाओं के लिए प्रभार निर्धारित किया है? कृपया "बैंकों में ग्राहक सेवा" पर दिनांक 1 जुलाई 2015 को जारी मास्टर परिपत्र बैंविवि.सं.एलईजी.बीसी.21/09.07.006/2015-16 को देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचना' शीर्षक के तहत उपलब्ध है। 05 नवम्बर 2019
30 क्या बैंक को व्यक्तिगत उधारकर्ताओं पर अवधि पूर्व समाप्ति/ पूर्व-भुगतान दंड लगाने का अधिकार है? कृपया "बैंकों में ग्राहक सेवा" पर दिनांक 1 जुलाई 2015 को जारी मास्टर परिपत्र बैंविवि.सं.एलईजी.बीसी.21/09.07.006/2015-16 को देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचना' शीर्षक के तहत उपलब्ध है।

साथ ही, दिनांक 02 अगस्त 2019 को ‘फ्लोटिंग दर वाले मीयादी ऋण पर अवधि-पूर्व चुकौती प्रभार/ अवधि-पूर्व भुगतान दंड लगाना’ पर जारी बैंविवि.निदेश.बीसी.सं 08/13.03.00/2019-20 देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचना' शीर्षक के तहत उपलब्ध है।
05 नवम्बर 2019
31 आरबीआई के अनुदेशों के अनुसार 'व्यक्ति' की परिभाषा क्या है? कृपया दिनांक 3 मार्च 2016 को बैंविवि.निदेश.सं 84/13.03.00/2015-16 द्वारा जारी मास्टर निदेश – भारतीय रिज़र्व बैंक (जमाराशियों पर ब्याज दर) निदेश, 2016 देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचना' शीर्षक के तहत उपलब्ध है। 05 नवम्बर 2019
32 अधिकांश बैंक अपने ग्राहकों को न्यूनतम शेष/ औसत न्यूनतम शेष के रूप में कुछ राशि बनाए रखने के लिए कहते हैं। कृपया इस संबंध में आरबीआई द्वारा जारी अनुदेश प्रदान करें। कृपया "बैंकों में ग्राहक सेवा" पर दिनांक 1 जुलाई 2015 को जारी मास्टर परिपत्र बैंविवि.सं.एलईजी.बीसी.21/09.07.006/2015-16 को देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचना' शीर्षक के तहत उपलब्ध है। 05 नवम्बर 2019
33 आरबीआई के नियमों के अनुसार, क्या बैंक खाता धारक से न्यूनतम जमाशेष न बनाए रखने पर खाता धारक से प्रभार की कटौती कर सकते हैं। यदि हाँ, तो कृपया नियमों की एक प्रति प्रदान करें।
34 एसएमएस अलर्ट सुविधा के लिए प्रभार क्या हैं? कृपया "बैंकों में ग्राहक सेवा" पर दिनांक 1 जुलाई 2015 को जारी मास्टर परिपत्र बैंविवि.सं.एलईजी.बीसी.21/09.07.006/2015-16 को देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचना' शीर्षक के तहत उपलब्ध है। 05 नवम्बर 2019
35 क्या मैं अपनी सावधि जमा की निकासी समय से पहले कर सकता/ सकती हूं? कृपया दिनांक 3 मार्च 2016 को बैंविवि.निदेश.सं.84/13.03.00/2015-16 द्वारा जारी मास्टर निदेश – भारतीय रिज़र्व बैंक (जमाराशियों पर ब्याज दर) निदेश, 2016 को देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचना' शीर्षक के तहत उपलब्ध है। 05 नवम्बर 2019
36 कौन सी संस्थाएँ बचत बैंक खाता खोलने के लिए पात्र हैं?
37 परिपक्वता की तारीख के बाद नवीकरण की तारीख तक की अवधि के लिए जमाकर्ता किस ब्याज दर का पात्र है?
38 क्या कोई प्रावधान है जो बैंक को अपने कर्मचारियों द्वारा जमा किए गए धन पर अधिक ब्याज देने की अनुमति देता है?
39 आरबीआई द्वारा निर्धारित दंडात्मक ब्याज की दर क्या है? कृपया दिनांक 3 मार्च 2016 को बैंविवि.निदेश.सं.85/13.03.00/2015-16 द्वारा जारी मास्टर निदेश – भारतीय रिज़र्व बैंक (अग्रिमों पर ब्याज दर) निदेश, 2016 को देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचना' शीर्षक के तहत उपलब्ध है। 05 नवम्बर 2019
40 बचत बैंक खाते पर ब्याज की गणना कैसे की जाती है? कृपया दिनांक 3 मार्च 2016 को बैंविवि.निदेश.सं.84/13.03.00/2015-16 द्वारा जारी मास्टर निदेश – भारतीय रिज़र्व बैंक (जमाराशियों पर ब्याज दर) निदेश, 2016 को देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचना' शीर्षक के तहत उपलब्ध है। 05 नवम्बर 2019
41 आवास ऋण के संवितरण की क्या प्रक्रिया है? कृपया "आवास वित्त" पर दिनांक 1 जुलाई, 2015 को जारी हमारे परिपत्र डीबीआर.सं.डीआईआर.बीसी.13/08.12.001/2015-16 को देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचना' शीर्षक के तहत उपलब्ध है। 05 नवम्बर 2019
42 बैंक गारंटी जारी करने के लिए वर्तमान दिशानिर्देश क्या हैं? कृपया दिनांक 1 जुलाई, 2015 को डीबीआर.सं.डीआईआर. बीसी11/13.03.00/2015-16 द्वारा जारी मास्टर परिपत्र –‘गारंटियां और सह-स्वीकृतियां’ देखें,जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर ‘अधिसूचनाएँ’ शीर्ष के तहत उपलब्ध है। 05 नवंबर 2019
43 क्या बैंककारी विनियमन अधिनियम, 1949 एआईएफआई पर लागू होता है? नहीं।

भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम, 1934 की धारा 45 एल द्वारा प्रदत्त शक्तियों के अनुरूप एआईएफ़आई को आरबीआई द्वारा विनियमित किया जाता है। एआईएफ़आई के कार्यों को मुख्य रूप से उनकी संबंधित संविधियों द्वारा अभिशासित किया जाता है।
05 नवंबर 2019
44 वित्तीय संस्थाओं को विनियमित करने वाली विनियामक संस्थाओं के नाम। आरबीआई, डीबीआर, एफ़आईडी चार अखिल भारतीय वित्तीय संस्थाओं, (एआईएफ़आई) अर्थात भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी), राष्ट्रीय आवास बैंक (एनएचबी), भारतीय आयात-निर्यात बैंक (एक्जिम बैंक) और राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) को विनियमित करते हैं। 05 नवंबर 2019
45 अखिल भारतीय वित्तीय संस्थाओं (एआईएफआई) की कुल संख्या।

भारत में और क्षेत्रवार ।
वर्तमान में, आरबीआई, विनियमन विभाग (डीओआर) चार अखिल भारतीय वित्तीय संस्थाओं अर्थात भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी), राष्ट्रीय आवास बैंक (एनएचबी), भारतीय आयात-निर्यात बैंक (एक्जिम बैंक) और राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) को विनियमित करता है। इसके अलावा, भारतीय औद्योगिक निवेश बैंक (आईआईबीआई) लिमिटेड, जिसे भी आरबीआई, डीबीआर द्वारा विनियमित किया जा रहा था, सितंबर 2012 से स्वैच्छिक परिसमापन की प्रक्रिया में है। 05 नवंबर 2019
46 अखिल भारतीय वित्तीय संस्थाओं (एआईएफआई) का नाम और स्थापना की तारीख़
एआईएफआई का नाम स्थापना की तारीख़
राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) 12 जुलाई 1982
भारतीय आयात-निर्यात बैंक (एक्जिम बैंक) 01 जनवरी 1982
भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) 07 मार्च 1990
राष्ट्रीय आवास बैंक (एनएचबी) 09 जुलाई 1988
05 नवंबर 2019
47 क्या बैंक से कोई ऋण उत्पाद लेने के दौरान बीमा लेना अनिवार्य है? कृपया “ऋण और अग्रिम - सांविधिक और अन्य प्रतिबंध” पर 1 जुलाई, 2015 को बैंविवि.सं.डीआईआर.बीसी.10/13.03.00/2015-16 द्वारा जारी मास्टर परिपत्र और हमारा मास्टर निदेश-भारतीय रिज़र्व बैंक (बैंकों द्वारा दी जाने वाली वित्तीय सेवाएं) निदेश, 2016, दिनांक 26 मई, 2016 देखें।

(उपर्युक्त वर्णित मास्टर निदेश/ परिपत्र हमारी आधिकारिक वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचनाएं' शीर्ष के तहत उपलब्ध हैं।)
05 नवंबर 2019
48 यदि बैंक कर्मचारी ग्राहक को बीमा उत्पाद खरीदने के लिए मजबूर करते हैं और/ या ऋण देने से इनकार करते हैं तो इस संबंध में क्या कार्रवाई/ शिकायत निवारण तंत्र है। किसी विशिष्ट बैंक के खिलाफ शिकायत के मामले में, संबंधित बैंक की शाखा या उसके नियंत्रक कार्यालय के पास शिकायत दर्ज की जा सकती है। यदि शिकायत का निवारण 30 दिनों के भीतर नहीं किया जाता है, तो बैंकिंग लोकपाल योजना, 2006 के तहत बैंकिंग लोकपाल के समक्ष एक नई शिकायत प्रस्तुत की जा सकती है। बैंकिंग लोकपाल योजना का विवरण आरबीआई की वेबसाइट www.rbi.org.in पर उपलब्ध है। 05 नवंबर 2019
49 क्या आकस्मिक मृत्यु की स्थिति में एटीएम कार्ड खाताधारक को बीमा कवर प्रदान किया जाता है? विनियमन विभाग ने इस संबंध में कोई विशिष्ट अनुदेश जारी नहीं किए हैं और इसलिए, अपेक्षित जानकारी नहीं है।

तथापि कृपया 01 जुलाई 2015 को ‘’बैंकों तथा क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता एनबीएफसी के क्रेडि‍ट कार्ड, डेबिट कार्ड तथा रुपए में मूल्यवर्गित को-ब्राडेंड प्री-पेड कार्ड परि‍चालन पर जारी मास्टर परिपत्र का संदर्भ लें।

उपर्युक्त परिपत्र हमारी आधिकारिक वेबसाइट https://www.rbi.org.in पर ‘अधिसूचनाएं’ शीर्ष के तहत उपलब्ध है।
05 नवंबर 2019
50 क्रेडिट कार्ड धोखाधड़ी को नियंत्रित करने के लिए आरबीआई द्वारा क्या उपाय किए गए हैं? कृपया 01 जुलाई 2015 को ‘’बैंकों तथा क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता एनबीएफसी के क्रेडि‍ट कार्ड, डेबिट कार्ड तथा रुपए में मूल्यवर्गित को-ब्राडेंड प्री-पेड कार्ड परि‍चालन’ पर जारी मास्टर परिपत्र का संदर्भ लें।

उपर्युक्त परिपत्र हमारी आधिकारिक वेबसाइट https://www.rbi.org.in पर ‘अधिसूचनाएं’ शीर्ष के तहत उपलब्ध है।
05 नवंबर 2019
51 क्रेडिट कार्ड से संबंधित ब्याज दर और अन्य प्रभारों पर क्या दिशानिर्देश हैं? कृपया 01 जुलाई 2015 को ‘’बैंकों तथा क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता एनबीएफसी के क्रेडि‍ट कार्ड, डेबिट कार्ड तथा रुपए में मूल्यवर्गित को-ब्राडेंड प्री-पेड कार्ड परि‍चालन’ पर जारी मास्टर परिपत्र का संदर्भ लें।

उपर्युक्त वर्णित परिपत्र हमारी वेबसाइट https://www.rbi.org.in पर ‘अधिसूचनाएं’ शीर्ष के तहत उपलब्ध है।
05 नवंबर 2019
52 क्या बैंक कर्मचारियों को शाखाओं में बीमा उत्पाद बेचने की अनुमति है? इस संबंध में क्या दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं? कृपया ’बैंकों द्वारा दी जाने वाली वित्तीय सेवाएं पर 26 मई, 2016 के मास्टर निदेश (25 सितंबर, 2017 को अद्यतित) का संदर्भ लें।

उपर्युक्त वर्णित परिपत्र हमारी वेबसाइट https://www.rbi.org.in पर ‘अधिसूचनाएं’ शीर्ष के तहत उपलब्ध है।
05 नवंबर 2019
53 क्या कोई बैंक ग्राहक की सहमति के बिना क्रेडिट कार्ड जारी कर सकता है या क्रेडिट कार्ड की सीमा बढ़ा सकता है? कृपया 01 जुलाई 2015 को ‘’बैंकों तथा क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता एनबीएफसी के क्रेडि‍ट कार्ड, डेबिट कार्ड तथा रुपए में मूल्यवर्गित को-ब्राडेंड प्री-पेड कार्ड परि‍चालन’पर जारी मास्टर परिपत्र का संदर्भ लें।

उपर्युक्त वर्णित परिपत्र हमारी वेबसाइट https://www.rbi.org.in पर ‘अधिसूचनाएं’ शीर्ष के तहत उपलब्ध है।
05 नवंबर 2019
54 क्या बैंकों से डेबिट कार्ड लेना अनिवार्य है? कृपया 01 जुलाई 2015 को ‘’बैंकों तथा क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता एनबीएफसी के क्रेडि‍ट कार्ड, डेबिट कार्ड तथा रुपए में मूल्यवर्गित को-ब्राडेंड प्री-पेड कार्ड परि‍चालन पर जारी मास्टर परिपत्र का संदर्भ लें।

उपर्युक्त वर्णित परिपत्र हमारी वेबसाइट https://www.rbi.org.in पर ‘अधिसूचनाएं’ शीर्ष के तहत उपलब्ध है।
05 नवंबर 2019
55 इस वित्तीय वर्ष के लिए आरबीआई द्वारा नामित स्वर्ण आयात करने के लिए अनुमति प्राप्त बैंकों के नाम और संख्या। स्वर्ण आयात करने के लिए आरबीआई द्वारा अनुमति प्राप्त नामित बैंकों की सूची निम्नलिखित पर उपलब्ध है:
https://rbi.org.in/commonman/english/Scripts/Content.aspx?id=336
05 नवंबर 2019
56 उन विदेशी बैंकों के नाम और पते की सूची, जिन्हें भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा भारत में बैंकिंग सेवाएँ देने की अनुमति है। भारत में कार्यरत विदेशी बैंकों की सूची (शाखाओं और प्रतिनिधि कार्यालयों के रूप में), यहाँ उपलब्ध है:
https://www.rbi.org.in/commonman/Upload/English/Content/PDFs/71207.pdf

भारत में बैंकिंग व्यवसाय करने वाले विदेशी बैंकों के पत्राचार पते निम्नलिखित लिंक पर उपलब्ध हैं:
https://rbi.org.in/commonman/english/scripts/banksinindia.aspx
05 नवंबर 2019
57 बैंकों में लॉकरों की सुरक्षा के बारे में आरबीआई की क्या नीति है? कृपया 'बैंकों में ग्राहक सेवा’' पर दिनांक 1 जुलाई, 2015 को जारी हमारे मास्टर परिपत्र बैविवि.सं.एलईजी.बीसी. 21/09.07.006/2015-16 देखें हैं, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचनाएं' शीर्ष के तहत उपलब्ध है। 05 नवंबर 2019
58 कृपया उचित व्यवहार संहिता पर आरबीआई के दिशानिर्देश प्रदान करें। विनियमन विभाग, आरबीआई ने बैंकों को निम्नलिखित परिपत्र जारी किए हैं: -
  1. ऋणदाताओं के लिए उचित व्यवहार संहिता पर दिशानिर्देश' पर दिनांक 05 मई, 2003 को जारी परिपत्र डीबीओडी.एलईजी.सं.बीसी.104/09.07.007/2002-03

  2. ऋणदाताओं के लिए उचित व्यवहार संहिता पर दिशानिर्देश' पर दिनांक 06 मार्च, 2007 को जारी परिपत्र डीबीओडी.एलईजी.सं.बीसी.65/09.07.005/2006-07

  3. ऋणदाताओं के लिए उचित व्यवहार संहिता पर दिशानिर्देश- ऋण करार की प्रति प्रदान करना'पर दिनांक 22 अगस्त, 2007 को जारी परिपत्र डीबीओडी.एलईजी.सं.बीसी.28/09.07.005/2007-08

  4. ‘ऋणदाताओं के लिए उचित व्यवहार संहिता पर दिशानिर्देश- प्रक्रिया शुल्क/ प्रभार से संबंधित सभी सूचनाओं का प्रकटीकरण’ पर दिनांक 25 नवंबर, 2008 को जारी परिपत्र डीबीओडी.एलईजी.सं. बीसी.86/09.07.005/2008-09

  5. ‘ऋणदाताओं के लिए उचित व्यवहार संहिता पर दिशानिर्देश- प्रक्रिया शुल्क/ प्रभार से संबंधित सभी सूचनाओं का प्रकटीकरण’ पर दिनांक 12 नवंबर, 2010 को जारी परिपत्र डीबीओडी.एलईजी.सं. बीसी.61/09.07.005/2010-11

इस संबंध में, आप 'बैंकों द्वारा सूचनाओं को प्रदर्शित करना पर दिनांक 22 जनवरी, 2015 का परिपत्र बैविवि. एलईजी.सं.बीसी.64/09.07.005/2014-15 भी देख सकते हैं।

(उपर्युक्त वर्णित परिपत्र हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचनाएं' शीर्ष के तहत उपलब्ध हैं)
05 नवंबर 2019
59 क्रॉस - सेलिंग के उद्देश्य से बैंकों द्वारा ग्राहकों से सूचना एकत्र करने के संबंध में आरबीआई द्वारा जारी दिशानिर्देश प्रदान करें। कृपया 'बैंकों में ग्राहक सेवा' पर दिनांक 1 जुलाई 2015 का मास्टर परिपत्र संख्या बैविवि.सं.एलईजी.बीसी 21/09.07.006/2015-16 देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचनाएं' लिंक के तहत उपलब्ध है। 05 नवंबर 2019
60 बैंकिंग कार्य घंटे, विस्तारित कारोबार घंटे और गैर नकद बैंकिंग लेनदेन के कार्य घण्टों के बारे में आरबीआई के क्या दिशानिर्देश है? कृपया 'बैंकों में ग्राहक सेवा' पर दिनांक 1 जुलाई 2015 का मास्टर परिपत्र संख्या बैविवि.सं.एलईजी.बीसी 21/09.07.006/2015-16 देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचनाएं' लिंक के तहत उपलब्ध है। 05 नवंबर 2019
61 किसी अप्राधिकृत इलेक्ट्रॉनिक बैंकिंग लेनदेन के मामले में ग्राहक और बैंक की जिम्मेदारी के संबंध में आरबीआई के के क्या दिशानिर्देश है? कृपया दिनांक 06 जुलाई 2017 को ग्राहक संरक्षण – अनधिकृत इलेक्ट्रॉनिक बैंकिंग लेनदेन में ग्राहकों की देयता को सीमित करना’ पर जारी परिपत्र बैंविवि.सं.एलईजी. बीसी.78/09.07.005/2017-18 देखें हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचनाएं' लिंक के तहत उपलब्ध है। 05 नवंबर 2019
62 कृपया वरिष्ठ नागरिकों और दिव्यांग व्यक्तियों के संबंध में जारी दिशा-निर्देश प्रदान करें। कृपया विकासात्मक और विनियामक नीतियों पर वक्तव्य - दिनांक 4 अक्तूबर 2017 वरिष्ठ नागरिकों और दिव्यांग व्यक्तियों के लिए बैंकिंग सुविधा पर परिपत्र बैंविवि.सं. एलईजी.बीसी.96/09.07.005/2017-18 देखें जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचनाएं' लिंक के तहत उपलब्ध है।

साथ ही, 'बैंकों में ग्राहक सेवा' पर दिनांक 1 जुलाई 2015 का मास्टर परिपत्र संख्या बैविवि.सं.एलईजी.बीसी.21/09.07.006/2015-16 भी देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचनाएं' लिंक के तहत उपलब्ध है।
05 नवंबर 2019
63 पासबुक में प्रविष्टियों और खाते के विवरण के संबंध में आरबीआई के मौजूदा दिशा निर्देश क्या है? कृपया 'बैंकों में ग्राहक सेवा' पर दिनांक 1 जुलाई 2015 का मास्टर परिपत्र संख्या बैविवि.सं.एलईजी.बीसी 21/09.07.006/2015-16 देखे। परिपत्र हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचनाएं' लिंक के तहत उपलब्ध हैं। 05 नवंबर 2019
64 यदि किसी ग्राहक को किसी बैंक/ शाखा के संबंध में असंतुष्टि/ शिकायत है तो इस संबंध में क्या कार्रवाई अपनाई जाएगी। किसी बैंक विशेष के संबंध मे शिकायत के मामले में आवेदक संबंधित बैंक शाखा मे शिकायत कर सकते हैं। यदि वह उनके उत्तर से संतुष्ट नही हैं तो वे शिकायत निवारण के लिए बैंकिंग लोकपाल योजना, 2006 के तहत नियुक्त उक्त बैंक शाखा के नियंत्रक कार्यालय/ प्रधान कार्यालय के नोडल अधिकारी/ प्रधान नोडल अधिकारी के पास शिकायत दर्ज करा सकते हैं। यदि आपकी शिकायत का निवारण एक माह के भीतर नही होता है तो बैंकिंग लोकपाल योजना, 2006 के तहत बैंकिंग लोकपाल के पास शिकायत दर्ज करा सकते हैं। बैंकिंग लोकपाल योजना का ब्यौरा भा.रि.बै. की वेबसाइट www.rbi.org.in पर उपलब्ध है। बैंकों के नोडल अधिकारियों के नाम और संपर्क विवरण उनकी संबंधित आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध हैं। आप आरबीआई की 03 सितंबर, 2018 की प्रेस विज्ञप्ति, 2018-2019/542 भी देख सकते हैं- जिसका शीर्षक है- अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों के लिए रिजर्व बैंक ने आंतरिक लोकपाल योजना, 2018 को शुरू किया (यह हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर ‘प्रेस प्रकाशनी' लिंक के तहत उपलब्ध है।) 05 नवंबर 2019
65 किसी बचत बैंक/ चालू बैंक खाते को कब अपरिचालित/ निष्क्रिय माना जाता है। कृपया 'बैंकों में ग्राहक सेवा' पर दिनांक 1 जुलाई 2015 का मास्टर परिपत्र संख्या बैविवि.सं.एलईजी.बीसी21/09.07.006/2015-16 देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचनाएं' लिंक के तहत उपलब्ध है। 05 नवंबर 2019
66 मृत जमाकर्ताओं के दावों के समाधान के संबंध में आरबीआई के क्या दिशानिर्देश हैं।
67 नामांकन सुविधा के बारे में आरबीआई का क्या दिशा निर्देश है।
68 बुनियादी बचत बैंक जमा खाता (बीएसबीडीए)/ शून्य शेष खातों के संबंध में आरबीआई द्वारा जारी दिशानिर्देश क्या हैं? कृपया दिनांक 10 जून 2019 को जारी परिपत्र संख्या बैविवि.सं.एलईजी.बीसी 47/09.07.005/2018-19 देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचनाएं' लिंक के तहत उपलब्ध है। 05 नवंबर 2019
69 असफल एटीएम लेनदेन के बारे में आरबीआई के क्या दिशानिर्देश हैं। कृपया 'बैंकों में ग्राहक सेवा' पर दिनांक 1 जुलाई 2015 का मास्टर परिपत्र संख्या बैविवि.सं.एलईजी.बीसी 21/09.07.006/2015-16 देखें, जो हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर 'अधिसूचनाएं' लिंक के तहत उपलब्ध है। 05 नवंबर 2019
70 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों (आरआरबी) के बारे में जानकारी। सभी आरआरबी की सूची आरबीआई की वेबसाइट पर निम्नलिखित रूप में एक्सेस की जा सकती है:

www.rbi.org.in>> होम>>उपभोक्ता शिक्षा एवं संरक्षण >>सामान्य जनता के लिए >> उपयोगी सूचना >> वित्तीय एजेंट>> भारत में बैंक
05 नवंबर 2019
71 क्या कोई भी बैंक ऋण खाता एनपीए बनने के बाद ऋण का रिवाइवल पत्र/ पावती प्राप्त कर सकता है?

उपरोक्त मामले से संबंधित आरबीआई का कोई भी परिपत्र/ अधिसूचना भी प्रदान करें।
भारतीय रिजर्व बैंक ने इस संबंध में कोई विशिष्ट अनुदेश जारी नहीं किए हैं तथापि कृपया 1 जुलाई 2015 को आय पहचान, आस्ति वर्गीकरण और अग्रिमों से संबंधित प्रावधानीकरण पर जारी मास्टर परिपत्र देखें। उपर्युक्त वर्णित परिपत्र हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर अधिसूचनाएं लिंक के तहत उपलब्ध है। 05 नवंबर 2019
72 एनपीए का पता लगाने के लिए नियम प्रावधान के साथ एनपीए के अर्थ को परिभाषित करें। कृपया दिनांक 01 जुलाई 2015 को आय निर्धारण, आस्ति वर्गीकरण और अग्रिमों से संबंधित प्रावधानीकरण पर जारी मास्टर परिपत्र देखें।

यह परिपत्र हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर अधिसूचनाएं लिंक के तहत उपलब्ध है।
05 नवंबर 2019
73 एनपीए खाते से राशि की वसूली करने के लिए उठाए जाने वाले कदमों की जानकारी दें।

एनपीए ऋण खाते की वसूली के लिए प्रक्रिया के बारे में जानकारी प्रदान करें।
दिनांक 28 जुलाई 1995 के हमारे परिपत्र बैंपविवि.सं. बीपी.बीसी.81/21.01.040/95 के अनुसार प्रत्येक बैंक से अपेक्षित है कि वे ऋण वसूली नीति बनाएं जिसमें बकाया राशि की वसूली का तरीका, छूट का लक्ष्य स्तर (अवधि-वार) अनुमति - प्रदत्त त्याग/ छूट के लिए मानदंड, छूट पर विचार करने के पूर्व ध्यान में रखे जाने वाले कारक, निर्णय स्तर, उच्चतर प्राधिकारियों को रिपोर्टिंग और बट्टे खाते डालने/ छूट देने के मामलों की निगरानी का तरीका दिया गया हो। 05 नवंबर 2019
74 मैं यह जानना चाहता हूं कि कार्यशील पूंजी के मूल्यांकन के मामले में, क्या बैंकों को प्रत्येक वर्ष उधारकर्ता की कार्यशील पूंजी का पुनर्मूल्यांकन/ मूल्यांकन करने के लिए किसी दिशानिर्देश/ नियम की आवश्यकता होती है। कृपया दिनांक 01 जुलाई 2015 को आय निर्धारण, आस्ति वर्गीकरण और अग्रिमों से संबंधित प्रावधानीकरण पर जारी मास्टर परिपत्र देखें।

यह परिपत्र हमारी वेबसाइट www.rbi.org.in पर अधिसूचनाएं लिंक के तहत उपलब्ध है।
05 नवंबर 2019
75 भारत में बैंकों की सूची। भारत में बैंकों की सूची सार्वजनिक डोमेन में निम्नलिखित लिंक पर उपलब्ध है:

https://rbi.org.in/commonman/english/scripts/banksinindia.aspx
05 नवंबर 2019
76 निजी क्षेत्र में यूनिवर्सल बैंक खोलने के लिए आवश्यक दिशानिर्देश और दस्तावेज क्या हैं।? कृपया दिनांक 1 अगस्त 2016 को ''निजी क्षेत्र के बैंकों में यूनिवर्सल बैंक के ऑन-टैप लाइसेंसिंग पर जारी दिशा निर्देश और प्रेस विज्ञप्ति 2016-2017/281 का संदर्भ लें। इसे निम्नलिखित लिंक के माध्यम से एक्सेस किया जा सकता है।

https://rbidocs.rbi.org.in/rdocs/Content/PDFs/
GOTL01082016BB321081EF5A45A489080187CA4CA690.PDF
05 नवंबर 2019

© भारतीय रिज़र्व बैंक । सर्वाधिकार सुरक्षित

दावा अस्‍वीकरणकहाँ क्‍या है |