विदेशी मुद्रा प्रबंधक

भारतीय रुपए के बाहरी मूल्‍य के निर्धारण के लिए बाज़ार-आधारित प्रणाली में परिवर्तन के साथ विदेशी मुद्रा बाज़ार ने सुधार अवधि की शुरुआत से ही भारत में ज़ोर पकड़ा है।

भाषण


अक्टूबर 14, 2021
भारत का पूंजी खाता प्रबंधन - एक आकलन- श्री टी रबी शंकर, उप गवर्नर, भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा - 14 अक्तूबर 2021 को- पांचवें विदेशी मुद्रा व्यापारी संघ (FEDAI) के वार्षिक दिवस पर दिया गया भाषण 269.00 kb
सितंबर 19, 2019
भारत के बाह्य क्षेत्र की सुदृढ़ता के आयाम - शक्तिकान्त दास 224.00 kb
अगस्त 26, 2019
व्यापार युद्ध: क्या उह अवैश्वीकरण की पूर्वपीठिका है? - बी.पी.कानूनगो 154.00 kb
अप्रैल 25, 2019
वैश्विक पटल पर भारत का बढ़ता महत्व क्या यह लंबे समय तक बना रहेगा और क्या हम इसके लिए तैयार हैं ? – बी.पी. कानूनगो 221.00 kb
जून 21, 2016
विदेशी मुद्रा बाज़ार एवं विदेशी लेनदेन : कुछ यादृच्छिक चिंतन – हारून आर गांधी 102.00 kb
मार्च 16, 2016
वैश्विक आर्थिक संकट: भारतीय अर्थव्यवस्था पर प्रभाव और आगे की राह - हारून आर खान 374.00 kb
अक्टूबर 06, 2014
भारतीय विदेशी मुद्रा बाजार : हाल की गतिविधियां तथा आगे की राह – हरून आर. खान 2883.00 kb
2022
2021
2020
2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख

© भारतीय रिज़र्व बैंक । सर्वाधिकार सुरक्षित

दावा अस्‍वीकरणकहाँ क्‍या है |