मुद्रा निर्गमकर्ता

रिज़र्व बैंक देश का मुख्य नोट निर्गमकर्ता प्राधिकारी है। भारत सरकार के साथ हम स्वच्छ और असली नोटों की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने के लक्ष्य के साथ राष्ट्र की मुद्रा के डिज़ाइन, उत्पादन और समग्र प्रबंध के लिए उत्तरदायी हैं।

प्रेस प्रकाशनी


सितंबर 21, 2022
मणि (मोबाइल एडेड नोट आइडेंटिफ़ायर) – बहुभाषी ऑडियो नोटिफ़िकेशन की शुरुआत
जून 06, 2022
भारतीय रिज़र्व बैंक का स्पष्टीकरण: मौजूदा करेंसी और बैंकनोटों में कोई बदलाव नहीं
अप्रैल 29, 2022
वर्ष 2021-22 के लिए मुद्रा और वित्त संबंधी रिपोर्ट (आरसीएफ)
मार्च 28, 2022
आरबीआई गवर्नर ने बीआरबीएनएमपीएल की वर्णिका स्याही निर्माण इकाई को राष्ट्र को समर्पित किया
आरबीआई गवर्नर ने बीआरबीएनएमपीएल के अध्ययन एवं विकास केंद्र (एलडीसी) का शिलान्यास किया
अगस्त 04, 2021
रिज़र्व बैंक ने जनता को पुराने बैंक नोटों और सिक्कों की खरीद-बिक्री के फर्जी प्रस्तावों का शिकार न होने के लिए आगाह किया
जनवरी 01, 2020
रिज़र्व बैंक द्वारा मोबाइल एडेड नोट आइडेंटिफ़ायर (मणि) का आरंभ किया गया
जून 26, 2019
जनता वैध मुद्रा के रूप में सभी सिक्कों का स्वीकार करना जारी रख सकती है: भारतीय रिज़र्व बैंक
2022
2021
2020
2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख

© भारतीय रिज़र्व बैंक । सर्वाधिकार सुरक्षित

दावा अस्‍वीकरणकहाँ क्‍या है |