भुगतान और निपटान प्रणाली

अर्थव्‍यवस्‍था की समग्र दक्षता में सुधार करने में भुगतान और निपटान प्रणाली महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इसके अंतर्गत राशि-मुद्रा, चेकों जैसी कागज़ी लिखतों के सुव्‍यवस्थित अंतरण और विभिन्‍न इलेक्‍ट्रॉनिक माध्‍यमों के लिए विभिन्‍न प्रकार की व्‍यवस्‍थाएं हैं।

भाषण


फरवरी 14, 2022
क्रिप्टोकरेंसी - एक आकलन - श्री टी रबी शंकर 303.00 kb
सितंबर 28, 2021
दायित्वपूर्ण डिजिटल नवोन्मेष- मंगलवार, 28 सितंबर 2021 को श्री टी रबी शंकर, उप गवर्नर, भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा भाषण- ग्लोबल फिनटेक फेस्टिवल को संबोधन 183.00 kb
मार्च 25, 2021
नए दशक में वित्तीय क्षेत्र – शक्तिकान्त दास 210.00 kb
अगस्त 17, 2018
खुदरा भुगतानों में नवाचार : डॉ ऊर्जित आर पटेल 130.00 kb
मई 30, 2018
भुगतान के क्षेत्र में उत्कृष्टता – बी. पी.कानूनगो 142.00 kb
फरवरी 20, 2017
भुगतान प्रणाली –अगला पड़ाव-आर गांधी 168.00 kb
अक्टूबर 24, 2016
भारत में भुगतान प्रणाली का उद्भव : या यह एक क्रांति है? - आर. गांधी 149.00 kb
दिसंबर 22, 2015
भुगतान क्रांति: सहभागिता की तैयारी – आर गांधी 129.00 kb
जून 23, 2015
सहकारी बैंकों के बारे में भविष्य एवं नए विचार – आर. गांधी 107.00 kb
मई 28, 2015
भारतीय भुगतान प्रणाली क्लाइडस्कोप – एस.एस.मूँदड़ा 93.00 kb
2022
2021
2020
2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख

© भारतीय रिज़र्व बैंक । सर्वाधिकार सुरक्षित

दावा अस्‍वीकरणकहाँ क्‍या है |